total top 10 top raw agents secret missions. R.A.W. के टॉप 7 ख़ुफ़िया मिशन जिनके बारे में शायद आपको नही पता. www.totaltop10.com

R.A.W. के टॉप 7 ख़ुफ़िया मिशन जिनके बारे में शायद आपको नही पता

Sharing is caring!

अब तक भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसी RAW पर बहुत सी फिल्मे बनाई गयी है और आपने कुछ देखी भी होगी. लेकिन एक RAW एजेंट की ज़िन्दगी फिल्मो में दिखाई जाने जाने वाली ज़िन्दगी से बहुत अलग होती है. RAW बहुत ख़ुफ़िया तरीके से काम करता है और इसके बारे में आपने कभी भी अखबार में नही पड़ा होगा या कभी टीवी पर भी नही देखा होगा.

क्या है RAW ?

RAW या अनुसंधान और विश्लेषण विंग भारत की विदेशी खुफिया एजेंसी है, जिसका गठन 1968 में रामेश्वर नाथ काओ के नेत्रत्व में हुआ था.
RAW प्रमुख परमाणु कार्यक्रमों की गोपनीयता को बनाए रखने और बाहर देश से होने वाले बहुत सारी आतंकवादी घटनाओ को रोकते हुए भारतीय खुफिया एजेंसियां ​​हमेशा से अपनी योग्यता साबित कर चुकी हैं। यह उप-महाद्वीप में सबसे खतरनाक ख़ुफ़िया एजेंसियों में से एक के रूप में जानी जाती है

यहाँ RAW के द्वारा किये गए कुछ खुफिया मिशनों पर नजर डाले तो ये सिद्ध हो जायेगा की वास्तव में RAW दुनिया की सबसे अच्छी खुफिया एजेंसियों में से एक है.

 

1- बांग्लादेश को बनाने में अहम् भूमिका – 1971.

RAW ने पश्चिम पाकिस्तान के अत्याचारो से पूर्वी पाकिस्तान के लोगो को बचाने के लिए बांग्लादेशी गोरिल्ला संगठन मुक्ति वाहिनी का समर्थन किया और उन्हें पाकिस्तानी फ़ौज से लड़ने के लिए हथियार और ट्रेनिंग भी प्रदान की. दूसरी तरफ RAW ने पूर्व पाकिस्तान में पाकिस्तानी सेना की गतिविधियों को भी रोका. और इस तरह से एक नए राष्ट्र का जन्म हुआ जिसका नाम बांग्लादेश रखा गया.

 

2- आपरेशन स्माइलिंग बुद्धा ( Operation Smiling Buddha ) – भारत का पहला परमाणु सफल परीक्षण.

आप सभी जानते है की 1974 ने अपना पहला परमाणु परीक्षण किया था. लेकिन बहुत काम ही लोग जानते है की ये एक ख़ुफ़िया मिशन था. इस मिशन को चीन और अमरीका जैसे दूसरे देशों की खुफिया एजेंसियां की नजर में आये बिना ही भारत को इसका सफल परीक्षण करना था क्योंकि अगर इन देशो को इस परीक्षण के बारे में पता चलता तो वो इस मिशन को कभी भी सफल नही होने देते. इस मिशन को ख़ुफ़िया बनाये रखने में RAW ने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. अंत में भारत ने परमाणु का सफल परीक्षण किया और भारत एक परमाणु राष्ट्र बन गया.

इस मिशन का नाम  स्माइलिंग बुद्धा रखा गया क्योंकि भारत दूसरे देशो को ये बताना चाहता था की इस बम का निर्माण विश्व शांति बनाये रखने के लिए किया गया है और तब से कहा जाता है की भारत किसी भी देश पर पहले परमाणु हमला नही करेगा लेकिन अगर कोई देश भारत पर पहले परमाणु हमला करता है तो भारत भी परमाणु हमला करने से चुकेगा नही.

 

3- ऑपरेशन कहुता – एक छोटी सी गलती से गयी एजेंट्स की जान.

सन 1978 , आपरेशन कहुटा को RAW द्वारा किया गया अब तक का सबसे खतरनाक मिशन माना जाता है. कहुटा में पाकिस्तान अपने परमाणु हथियार बनाने में लगा हुआ था और इस बात का प्रमाण जानने के लिए RAW ने अपने एजेंट्स को तैयार किया. RAW के एजेंट अपने मिशन में बहुत हद तक सफल भी हो गए गए क्योंकि एजेंट कहुटा लैब के अंदर पहुच चुके थे और उन्होंने बहुत सी ख़ुफ़िया जानकारिया भारत को भी दी थी. जो ये सिद्ध करती थी की पाकिस्तान में परमाणु हथियार बन गए है. एजेंट्स इस लैब को बन्द करने के लिए प्लान बनाने लगी.

लेकिन ये मिशन सुरु होते ही ख़तम हो गया क्यों की तब के तत्कालीन प्रधान मंत्री श्री मोरारजी देसाई ने पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति जिया-उल-हक को फ़ोन पर अनजाने में बताया कि भारत पाकिस्तान के परमाणु और उसके कार्यक्रम के बारे में जानता है. इसके परिणाम स्वरूप पाकिस्तान ने कहुटा में सभी RAW के एजेंट का पता लगाया और कई RAW एजेंटों को मार दिया.

Also Read: इंटरनेट और facebook में होने वाले टॉप 6 ठगी जिससे आप कंगाल हो सकते हो
Also Read: Warning: सबसे पहली मून लैंडिंग को ले कर सबसे बड़ी साजिश

4- आपरेशन मेघदूत (Operation Meghdoot) -पाकिस्तान से पहले शियाचिन में भारत का पहला कदम .

1984 से पहले सियाचिन ग्लेशियर पर पाकिस्तान और भारत सेना में से किसी ने भी कदम नही रखा था. 1984 में, RAW ने महत्वपूर्ण जानकारी निकल ली, जिसमें पता चला कि पाकिस्तानी सेना ने सियाचिन पर कब्ज़ा करने के लिए एक ख़ुफ़िया आपरेशन बनाया जिसका नाम आपरेशन अबाबील रखा गया था.

इससे पहले की पाकिस्तान अपना काम पूरा कर पता RAW ने सियाचिन ग्लेशियर का नियंत्रण लेने के लिए ऑपरेशन मेघदूत को लॉन्च कर दिया और भारतीय सेना को इसकी जानकारी दे दी. इसके बाद भारतीय सेना के कुमाऊ रेजिमेंट के 300 जांबाज सिपाहियों ने पाकिस्तानी सेना से 4 दिन पहले ही सियाचिन के सभी प्रमुख चोटियों पर भारत का झंडा ऊंचा कर दिया. और तब से लेकर आज तक भारतीय सेना सियाचिन में हर तरह की मुस्किलो का सामना करते हुए तैनात है.

 

5- कारगिल युद्ध – पाकिस्तान के होने के सबूत मिले.

कारगिल युद्ध में RAW ने अपनी मत्वपूर्ण भूमिका निभाई. कारगिल युद्ध के दौरान RAW ने  परवेज मुशर्रफ और तत्कालीन पाकिस्तानी सेना के चीफ और उसके प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल मोहम्मद अजीज के बीच टेलीफोन पर  होने वाली बातचीत को रिकॉर्ड कर टेप कर लिया. जिन्होंने कारगिल में पाकिस्तानी सेना की भागीदारी का सबूत मिला।

इस बातचीत की रिकॉर्ड होने से पहले, पाकिस्तान ने किसी भी तौर पर कारगिल युद्ध में पाकिस्तानी सेना के होने का हमेशा से मना करता रहा। कारगिल युद्ध में पाकिस्तानी सेना की भागीदारी को साबित करने में इस टेप ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

 

6- मुम्बई हमला – हमले से पहले ही पता लगा लिया था.

क्या आप जानते हैं कि रॉ को मुम्बई हमले 2 से 3 महीने पहले ही हमले होने का अंदेशा था. RAW ने बहुत सी ऐसी फ़ोन कॉल को सुना और ट्रेस किया जो पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों द्वारा मुंबई होटल पर हमले की तरफ इशारा करती थी और RAW ने इन सारे फोन कॉलस को रोक दिया था. पर दूसरी ख़ुफ़िया एजेंसी के साथ सही से तालमेल न होने के कारण इस पर कोई भी कार्रवाई नहीं की गई.

 

7- स्नैच आपरेशन ( Snatch Operations) – पकड़ो और खीँच कर भारत लाओ.

आपने अक्षय कुमार की फिल्म ‘बेबी’ तो देखी ही होगी जिसके अंत में वे आतंकवादियों के प्रमुख को पकड़ते हैं, और उसे चुपके से भारत में ले आते हैं, उससे कुछ सवाल करते हैं और फिर उसे औपचारिक रूप से गिरफ्तार करते हैं.
इस ही कुछ है ये स्नैच आपरेशन, इसमे किसी विदेशी देश में एक संदिग्ध या अपराधी को पकड़ा गया है. फिर उसे भारत लाया जाता है. उससे कुछ अज्ञात जगहों पर पूछताछ की जाती है और फिर उसे औपचारिक रूप से सब लोगो के सामने एक हवाई अड्डे या बार्डर पर गिरफ्तार किया जाता है.

इस आपरेशन में कुछ प्रसिद्ध आतंकवादी जैसे लश्कर के आतंकवादी तारिक महमूद और अब्दुल करीम टुंडा की गिरफ्तारी शामिल है. और मुंबई के हमले को अंजाम देने वालो में से एक हैं शेख अब्दुल ख्वाजा, टेररिस्टआर्गेनाइजेशन इंडियन मुजाहिदीन के नेता यासीन भटकल भी सामिल है.

 

Also Read: Top 10 चीजे आप Google में कभी भी Search ना करे
Also Read: जानिए कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा ? ट्रेलर के बाद अब बाहुबली-2 की स्क्रिप्ट हुई लीक

2 thoughts on “R.A.W. के टॉप 7 ख़ुफ़िया मिशन जिनके बारे में शायद आपको नही पता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *